ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम बैटरी आधारित सिस्टम है जिन्हे स्थानों को रोशन करने के लिए सरकारी ग्रिड की आवश्यकता नहीं होती है। यह सोलर पैनल, सोलर बैटरी और सोलर इन्वर्टर के साथ कम्पलीट सोलर सेटअप है। दूसरे सोलर सिस्टम की तरह, ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम सूर्य के प्रकाश को सोखने और इसे बिजली में कन्वर्ट के लिए सोलर पैनल का उपयोग करता है।

Read in English 

Off grid home solar system
Off grid home solar system

दिन में सोलर कनेक्टेड लोड चलाएगा और बैलेंस एनर्जी सोलर बैटरी में स्टोर हो जाएगी। दिन के समय, सोलर सिस्टम सूर्य के प्रकाश का उपयोग करके बिजली जनरेट कर घरेलू उपकरणों को चलाता है और अतिरिक्त पावर बैटरी बैंक में स्टोर करता है। रात में सूरज की रोशनी नहीं होती है, तो उपकरण चलने के लिए बैटरी से पावर का उपयोग करते हैं। यह सिस्टम दिन-रात काम करता है।

आपके द्वारा इंस्टॉल किए जाने वाले सोलर सिस्टम टाइप के बारे में जानकारी का पता करना चाहिए। इस आर्टिकल में, आपको ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम से संबंधित सभी सवालों के जवाब मिलेंगे।

Page Highlights:

एक झलक में

पावर जनरेशन/kW

4 यूनिट/दिन

एवरेज कॉस्ट/kW

₹83,199 से ₹6,41,099

(सभी टेक्स के साथ)

रिटर्न ऑन इन्वेस्टमेंट

3 से 5 साल

एरिया रिक्वायर्ड/kW

6 Sq. मीटर छाया फ्री

ऑफ-ग्रिड सिस्टम

Buy solar panels online at best price
Buy solar panels online at best price

#1. ऑफ-ग्रिड सोलर प्राइस लिस्ट

सोलर सिस्टम पर पैसा खर्च करना एक बार का निवेश है, यदि आपने सोलर पावर प्लांट इंस्टॉल करके अपना होम प्राइस जोड़ने का फैसला किया है, तो आपको कई सोलर सिस्टमों की प्राइस सीमा के बारे में पता होना चाहिए।

“यदि आप बिजली कटौती की समस्या का सामना कर रहे हैं या आपके पास बेहतर ग्रिड नहीं है और आप अपना बिजली बिल भी कम करना चाहते हैं, तो आपको ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम चुनना चाहिए”

घर के लिए बैटरी के प्राइस के साथ ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम 1kW रु. 41,442 से शुरू होता है। यह सोलर पैनल, सोलर इन्वर्टर सोलर बैटरी, स्ट्रक्चर, घर, बिजनेस, स्कूल आदि के बेसिक लोड को चलाने के लिए कम्पलीट एक्सेसरीज के साथ कम्पलीट सोलर कॉम्बो हैं।

सोलर सिस्टम बैटरी प्राइस लिस्ट

यहां ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम के प्राइस की कम्पलीट लिस्ट है। विभिन्न कैपेसिटी वाले सोलर सिस्टम मॉडल की सेल्लिंग प्राइस का मेंशन उनकी कैपेसिटी के साथ-साथ उनके सोलर प्राइस प्रति वाट के साथ किया गया है।

सोलर सिस्टम मॉडल

सेल्लिंग प्राइस 

प्राइस/वाट

1kW सोलर सिस्टम प्राइस (12V)

रु. 69,699

रु. 69.69

1kW सोलर सिस्टम प्राइस (24V)

रु. 83,199

रु. 83.19

2kW सोलर सिस्टम प्राइस

रु. 1,61,399

रु. 80.69

3kW सोलर सिस्टम प्राइस

रु. 2,07,499

रु. 69.16

5kW सोलर सिस्टम प्राइस

रु. 3,52,199

रु. 70.43

6kW सोलर सिस्टम प्राइस

रु. 4,45,256

रु. 74.20

7.5kW सोलर सिस्टम प्राइस

रु. 5,17,999

रु. 69.07

10kW सोलर सिस्टम प्राइस

रु. 6,41,099

रु. 64.11

  • (सभी टैक्स सहित) प्लेस, पब्लिसिटी, उपलब्धता, और सोलर ब्रांड के आधार पर प्राइस ± 10% से 12% तक डिफरेंट हो सकते हैं।
  • सोलर सिस्टम पर सब्सिडी आपकी योग्यता और सोलर सिस्टम के टाइप पर निर्भर करती है।
  • लेटेस्ट प्राइस और स्टॉक की उपलब्धता के लिए हमारे ऑनलाइन सोलर शॉप या अमेज़ॅन स्टोर पर जाए

 

सब्सिडी के बारे में यहाँ और पढ़ें: http://kenbrooksolar.com/solar-benefits-mnre-govt-subsidy

ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम: कंपोनेंट्स और वर्किंग

ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम प्राइस का अनुमान लगाने के लिए, आपको उन कंपोनेंट्स के बारे में पता होना चाहिए जिनके साथ सिस्टम को काम करने की आवश्यकता होती है। आप एव्री कॉम्पोनेन्ट के इम्पोर्टेंस को उसके कार्य पढ़ने के बाद ही समझ सकते हैं। इन कंपोनेंट्स की लिस्ट नीचे उल्लिखित है।

यह कंपोनेंट्स निरंतर पावर प्रदान करने के लिए कैसे कार्य करते हैं? इन कंपोनेंट्स की कार्य को नीचे दिए गए स्टेप्स के माध्यम से स्पष्ट रूप से समझाया गया है।

  • सोलर पैनल सूर्य की पावर को सोखते हैं। और डिवाइस पावर को DC पावर में कन्वर्ट करते हैं।
  • सोलर चार्ज कंट्रोलर का उपयोग सोलर पैनल द्वारा जनरेट डीसी वोल्टेज को रेगुलेटेड करने के लिए किया जाता है सोलर पैनलों को सोलर चार्ज कंट्रोलर के साथ वायर किया जाता है। सोलर कंट्रोलर पता लगता है कि सोलर पैनल द्वारा कितनी पावर का प्रोडक्शन किया जा रहा है; इसमें मैक्सिमम पावर प्राप्त करने की कैपेसिटी है।
  • यह रेगुलेटेड डीसी सोलर चार्ज कंट्रोलर से जुड़े बैटरी बैंक में संग्रहीत करने और एक साथ लोड को पूरा करने की संभावना प्रदान करता है। बैटरी बैंक अतिरिक्त सोलर पावर को संग्रहीत और आवश्यकता पड़ने पर मदद करता है।
  • संग्रहीत बिजली को किसी भी समय सोलर इन्वर्टर द्वारा डीसी को एसी में कन्वर्ट कर उपयोग किया जा सकता है ताकि आपके घरेलू उपकरणों को बिजली मिल सके।

वीडियो के द्वारा सोलर सिस्टम के टाईप्स को समझें

#2. 1kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम

2kW UTL Combo Off Grid Solar System
Off-Grid Solar System

1kW सोलर सिस्टम

69,699 (सभी टेक्स के साथ)
  • मुफ्त बिजली
  • पोवे बैकअप
  • 25 साल की वारंटी
  • अपनी बचत बढ़ाएं
  • कोई नेट मीटरिंग नहीं

1kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम की स्पेसिफिकेशन्स

प्रत्येक स्टैंड-अलोन 1kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम में निम्नलिखित स्पेसिफिकेशन्स

पर्टिकुलरडिस्क्रिप्शन
सोलर सिस्टम कैपेसिटी1 वाट
सोलर पैनल335 वाट
सोलर पैनल की संख्या3 Nos.
सोलर पैनल टाइपMono/Poly
एफिशिएंसीUp to 19%
वारंटी25 साल
सोलर इन्वर्टर1kVA
इन्वर्टर टाइपऑफ -ग्रिड सोलर इन्वर्टर
टेक्नोलॉजीMPPT
मैक्सिमम DC इनपुट1kVA
वोल्टेज12V
एफिशिएंसी97%
वारंटी5 साल
सोलर बैटरी1 Nos.
टेक्नोलॉजीटाल ट्यूबलर सोलर बैटरी
बैटरी टाइपC10
कैपेसिटी150Ah
वोल्टेज12V
वारंटी5 साल
अन्य सोलर एक्सेसरीजजंक्शन बॉक्स, एसी/डीसी केबल, फास्टनर्स, केबल टाई, क्रिम्पिंग टूल, अर्थिंग किट, लाइटिंग एरेस्टर

#3. 2kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम

2kW UTL Combo Off Grid Solar System
Off-Grid Solar System

2kW सोलर सिस्टम

1,61,399 (सभी टेक्स के साथ)
  • मुफ्त बिजली
  • पोवे बैकअप
  • 25 साल की वारंटी
  • अपनी बचत बढ़ाएं
  • कोई नेट मीटरिंग नहीं

2kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम की स्पेसिफिकेशन्स

प्रत्येक स्टैंड-अलोन 2kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम निम्नलिखित सीरीज के साथ आती है।

र्टिकुलरडिस्क्रिप्शन
सोलर सिस्टम कैपेसिटी2 वाट
सोलर पैनल335 वाट
सोलर पैनल की संख्या6 Nos.
सोलर पैनल टाइपMono/Poly
एफिशिएंसीUp to 19%
वारंटी25 साल
सोलर इन्वर्टर2kVA
इन्वर्टर टाइपऑफ -ग्रिड सोलर इन्वर्टर
टेक्नोलॉजीMPPT
मैक्सिमम DC इनपुट2kVA
वोल्टेज24V
एफिशिएंसी97%
वारंटी5 साल
सोलर बैटरी2 Nos.
टेक्नोलॉजीटाल ट्यूबलर सोलर बैटरी
बैटरी टाइपC10
कैपेसिटी150Ah
वोल्टेज12V (टोटल 24V)
वारंटी5 साल
अन्य सोलर एक्सेसरीजजंक्शन बॉक्स, एसी/डीसी केबल, फास्टनर्स, केबल टाई, क्रिम्पिंग टूल, अर्थिंग किट, लाइटिंग एरेस्टर

#4. ऑफ-ग्रिड 3kW सोलर सिस्टम

UTL-3kw-off-grid-solar-system
UTL-3kw-off-grid-solar-system

3kW सोलर सिस्टम

2,07,499 (सभी टेक्स के साथ)
  • मुफ्त बिजली
  • पोवे बैकअप
  • 25 साल की वारंटी
  • अपनी बचत बढ़ाएं
  • कोई नेट मीटरिंग नहीं

3kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम की स्पेसिफिकेशन्स

स्टैंड-अलोन 3kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम खरीदने के लिए, आपको निम्नलिखित स्पेसिफिकेशन्स मिलेंगे।

पर्टिकुलर

डिस्क्रिप्शन

सोलर सिस्टम कैपेसिटी

3 वाट

सोलर पैनल

335 वाट

सोलर पैनल की संख्या

9 Nos.

सोलर पैनल टाइप

Mono/Poly

एफिशिएंसी

Up to 19%

वारंटी

25 साल

सोलर इन्वर्टर

3kVA

इन्वर्टर टाइप

ऑफ -ग्रिड सोलर इन्वर्टर

टेक्नोलॉजी

MPPT

मैक्सिमम DC इनपुट

3kVA

वोल्टेज

38V

एफिशिएंसी

97%

वारंटी

1 साल

सोलर बैटरी

4 Nos.

टेक्नोलॉजी

टाल ट्यूबलर सोलर बैटरी

बैटरी टाइप

C10

कैपेसिटी

150Ah

वोल्टेज

12V (टोटल 48V)

वारंटी

5 साल

अन्य सोलर एक्सेसरीज

जंक्शन बॉक्स, एसी/डीसी केबल, फास्टनर्स, केबल टाई, क्रिम्पिंग टूल, अर्थिंग किट, लाइटिंग एरेस्टर

#5. 5kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम

3kW-Luminous-Solar-Complete-System-Panels-5.5kVA-Cruze-Combo-Inverter-and-Battery.

5kW सोलर सिस्टम

3,85,999 (सभी टेक्स के साथ)
  • मुफ्त बिजली
  • पोवे बैकअप
  • 25 साल की वारंटी
  • अपनी बचत बढ़ाएं
  • कोई नेट मीटरिंग नहीं

5kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम की स्पेसिफिकेशन्स

प्रत्येक स्टैंड-अलोन 5kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम में निम्नलिखित सीरीज।

पर्टिकुलर

डिस्क्रिप्शन

सोलर सिस्टम कैपेसिटी

5 वाट

सोलर पैनल

335 वाट

सोलर पैनल की संख्या

15 Nos.

सोलर पैनल टाइप

Mono/Poly

एफिशिएंसी

Up to 19%

वारंटी

25 साल

सोलर इन्वर्टर

5.5kVA

इन्वर्टर टाइप

ऑफ -ग्रिड सोलर इन्वर्टर

टेक्नोलॉजी

MPPT

मैक्सिमम DC इनपुट

5kVA

वोल्टेज

96V

एफिशिएंसी

97%

वारंटी

5 साल

सोलर बैटरी

8 Nos.

टेक्नोलॉजी

टाल ट्यूबलर सोलर बैटरी

बैटरी टाइप

C10

कैपेसिटी

150Ah

वोल्टेज

12V (टोटल 96V)

वारंटी

5 साल

अन्य सोलर एक्सेसरीज

जंक्शन बॉक्स, एसी/डीसी केबल, फास्टनर्स, केबल टाई, क्रिम्पिंग टूल, अर्थिंग किट, लाइटिंग एरेस्टर

#6. 10kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम

10kW Luminous Solar Complete System price with Panels, Inverter and Battery.

10kW सोलर सिस्टम

6,41,099 (सभी टेक्स के साथ)
  • मुफ्त बिजली
  • पोवे बैकअप
  • 25 साल की वारंटी
  • अपनी बचत बढ़ाएं
  • कोई नेट मीटरिंग नहीं

10kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम की स्पेसिफिकेशन्स

प्रत्येक स्टैंड-अलोन 10kW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम में निम्नलिखित सीरीज।

पर्टिकुलर

डिस्क्रिप्शन

सोलर सिस्टम कैपेसिटी

10 वाट

सोलर पैनल

400 वाट

सोलर पैनल की संख्या

25 Nos.

सोलर पैनल टाइप

Mono/Poly

एफिशिएंसी

Up to 19%

वारंटी

25 साल

सोलर इन्वर्टर

10kVA

इन्वर्टर टाइप

ऑफ -ग्रिड सोलर इन्वर्टर

टेक्नोलॉजी

MPPT

मैक्सिमम DC इनपुट

10kVA

वोल्टेज

120V

एफिशिएंसी

97%

वारंटी

1 साल

सोलर बैटरी

10 Nos.

टेक्नोलॉजी

टाल ट्यूबलर सोलर बैटरी

बैटरी टाइप

C10

कैपेसिटी

150Ah

वोल्टेज

12V (टोटल 120V)

वारंटी

5 साल

अन्य सोलर एक्सेसरीज

जंक्शन बॉक्स, एसी/डीसी केबल, फास्टनर्स, केबल टाई, क्रिम्पिंग टूल, अर्थिंग किट, लाइटिंग एरेस्टर

#7. ऑफ-ग्रिड सोलर के लाभ और हानि

जो लोग नेचर प्रोटेक्शन करते हुए पैसे बचाने में विश्वास करते हैं, उन्हें यह मैनेजमेंट बेहद आकर्षक लगती है। एक ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित करके, आप बिजली की लागत को शून्य तक कम और बिजली की कटौती से बच सकते हैं। यह रूरल क्षेत्रों के लिए एक बेहतर वैकल्पिक बिजली स्रोत पेश करता है।

लाभ

  • यह उपयोग के अनुसार 6-48 घंटे का बैटरी बैकअप प्रदान करता है। क्युकी इसमें बिजली स्टोर की जा सकती है आप इसे कभी भी उपयोग कर सकते हैं
  • इस तरह का सोलर सिस्टम कस्टमर को ग्रिड से बाहर जाने नहीं देता। अलग घर में रहने से आपको बिजली उपयोग के मामले में अब कोई परेशानी नहीं होगी।
  • ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम बिजली ग्रिड के बिना काम करता है। अब आपको बिजली के बिल का भुगतान नहीं करना पड़ेगा।
  • गर्मी की एक्सट्रीम मांग को पूरा करने के लिए इंस्टॉल सोलर सिस्टम एक मध्यम आकार के एयर कंडीशनिंग को भी पावर प्रदान कर सकता है।
  • सिस्टम 5-7 साल तक की पेबैक अवधि की ओर ले जाती है। उसके बाद आपको कई और सालों तक फ्री बिजली मिलती है।
  • इन्हें तब तक कहीं भी इंस्टॉल किया जा सकता है जब तक यह सूर्य के सामने रहता है।

हानि

  • ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम की तुलना में अधिक महंगे और कम कुशल होते हैं।
  • जब बैटरी स्टोरीज फुल हो जाता है तो बिजली उपयोग में न होने पर सोलर नेट मीटरिंग की कोई संभावना नहीं है और बिजली की बर्बादी होती है
  • बैटरी को 5 से 7 साल बाद बदलना पड़ सकता है।

ऑफ-ग्रिड सिस्टम इंस्टॉल करने के स्टेप्स

जब आप एक ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम इंस्टॉल करने का निर्णय लेते हैं तो अगला स्टेप्स स्थापना का होता है। जो प्रोफेशनल्स को सोलर सिस्टम इंस्टॉल करने की आवश्यकता के लिए कहते हैं, व्यक्तिगत स्टेप्स पर ध्यान केंद्रित करने से इसे आसान बना दिया गया है। नीचे उल्लिखित गाइडलाइन्स का उपयोग करके ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम के प्राइस को कम करने के लिए सिस्टम इंस्टॉल करें।

#1. अपने होम लोड की कैलकुलेशन करें

कोई भी निवेश करने से पहले, अपनी पावर जरूरतों की कैलकुलेशन करें। आपको प्रत्येक टाइप के लोड के बारे में पता होना चाहिए जिसमें शामिल हैं-

  • बेसिक लोड (एलईडी लाइट्स/चार्जिंग पॉइंट्स/फैन/आदि)
  • बड़े उपकरण (रेफ्रिजरेटर/इलेक्ट्रिक फर्नेस)
  • स्पेशल लोड (सोलर वॉटर हीटर/सोलर एसी)

लोड की कैलकुलेशन करना बिल्कुल भी मुश्किल नहीं है। बस इन स्टेप्स को फॉलो करें-

    • उन सभी उपकरणों की एक लिस्ट तैयार करें जिन्हें आप सोलर सिस्टम का उपयोग करके चलाना चाहते हैं।
    • उस समय का अनुमान लगाएं जिसके लिए प्रत्येक उपकरण चलेगा।
    • स्पेसिफिकेशन चार्ट से प्रत्येक उपकरण की पावर रेटिंग का पता लगाएं।
    • फॉर्मूले का उपयोग करना – वाट ऑवर = रन टाइम × प्रोक्डट पावर रेटिंग,

आप प्रत्येक व्यक्तिगत गैजेट का वाट ऑवर पा सकते हैं।

#2. कंपोनेंट्स और ब्रांड का सिलेक्शन करें

कंपोनेंट्स और ब्रांडों का सिलेक्शन सावधानी से किया जाना चाहिए, यह ध्यान में रखते हुए कि निवेश वन-टाइम है। उपयुक्त कंपोनेंट्स का सिलेक्शन करने में आपकी सहायता के लिए, हमने प्रत्येक घटक के शीर्ष निर्माताओं को सूचीबद्ध किया है।

  • बैटरी सिलेक्शन 
    • लुमिनस सोलर बैटरी
    • सुकम सोलर बैटरी
    • एक्साइड सोलर बैटरी
  • सोलर पैनल सिलेक्शन 
    • पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल
    • मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल
  • सोलर इन्वर्टर सिलेक्शन 
  • ब्रैंड्स सिलेक्शन 

#3. सोलर पैनल पर असेंड

ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम सबसे अच्छा काम तब करता है, जब इसे जमीन या छत जैसे सूरज की रोशनी से इंटेररुपटेड क्षेत्रों में इंस्टोल नहीं किया जाता। सोलर पैनल सही दिशा सूर्य के प्रकाश में की ओर झुके होने चाहिए। और सोलर पैनल लगाने के लिए स्टेप्स को फॉलो करें-

  • साइड्स पर स्थित बिंदु का उपयोग करके सोलर पैनल को स्टैंड पर लगाए।
  • पैनल के स्थित जंक्शन बॉक्स का पता लगाएं। जंक्शन बॉक्स में पोलेरिटी के दो संकेत (पॉजिटिव और नेगेटिव) हैं।
  • आपको पॉजिटिव के लिए लाल तार और नेगेटिव टर्मिनल कनेक्शन के लिए काले तार का उपयोग करना होगा।

#4. कंपोनेंट्स को कनेक्ट करें

क्युकी आपके घर के लिए आवश्यक सिस्टम कैपेसिटी आसानी से उपलब्ध नहीं है, इसलिए आपकी आवश्यकता को पूरा करने के लिए एक छोटा पैनल या बैटरी लगाने की आवश्यकता होगी। उसी उद्देश्य के लिए, आपको कंपोनेंट्स को समानांतर और सीरीज कनेक्शन में जोड़ना होगा।

#5. कंपोनेंट्स को वायर करें

वायरों के उद्देश्यों के लिए, आपको तांबे की वायर, मीटर, फ़्यूज़, ब्रेकर और एमसी 4 कनेक्टर से युक्त अपने टूलबॉक्स को बाहर रखना होगा।

  • दोनों उपकरणों के नेगेटिव वायरों को जोड़ने और फिर पॉजिटिव वायरों को जोड़ने के लिए चार्ज कंट्रोलर को बैटरी से अटैचमेंट करें।
  • अब कंट्रोलर को सोलर पैनल से जोड़ने के लिए वायरों का उपयोग करें। साथ ही, आपको यहां MC4 कनेक्टर की आवश्यकता होगी।

#6. सिस्टम इंस्टॉलेशन है!

#8. ऑफ-ग्रिड सिस्टम पर सब्सिडी

सोलर पावर को बढ़ावा देने और भारत को सोलर क्षेत्र में आगे लाने के लिए सरकार सोलर पावर पर भारी सब्सिडी प्रदान कर रही है। आप ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम इंस्टॉल करके इस सब्सिडी प्रोग्राम का लाभ उठा सकते हैं। निचे सब्सिडी रेट्स हैं:

यह सब्सिडी रेट्स आपके राज्य की सोलर पॉलिसी के अनुसार भिन्न हो सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए अपने राज्य की नोडल एजेंसी से संपर्क करें।

एक्सप्ट की सलाह

ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम बिजली कटौती से छुटकारा पाने वाले लोगों के लिए बेस्ट है यह सोलर सिस्टम उन लोगों के लिए अंतिम सॉलूशन है जो बिजली की कमी से परेशान हैं और जिनके पास रिलाएबल ग्रिड (सरकारी बिजली सप्लाई) नहीं है। यह सेल्फ डिपेंडेंट सिस्टम दिन रात बिजली की सप्लाई करता है।

यह सिस्टम ग्रिड (मुख्य पावर ग्रिड) को ऑफ कर देता है जिसके अकोर्डिंगली आपको मासिक बिजली बिल मिलना बंद हो जाता है। इस सिस्टम के साथ आप देश के किसी भी हिस्से में बिना पावर ग्रिड के रह सकते है

सोलर एक्सप्ट से संपर्क करें

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम में आप सोलर पैनल द्वारा प्रोडूसेड अतिरिक्त बिजली को सोलर बैटरी में स्टोर कर सकते हैं। आप रात में या जब पैनल बिजली जनरेट नहीं कर रहे हों, तब संग्रहीत बिजली का उपयोग कर सकते हैं।

यह पूरी तरह आप पर निर्भर है। आप इसे अपनी छत पर इंस्टॉल कर सकते हैं या तो आप इसे किसी भी छाया मुक्त स्थान पर इंस्टॉल कर सकते हैं।

यह सोलर सिस्टम की कैपेसिटी पर निर्भर करता है। वैसे प्रति किलोवाट 6 वर्गमीटर क्षेत्रफल की आवश्यकता होती है। 1kW सोलर सिस्टम, 2kW सोलर सिस्टम, 3kW सोलर सिस्टम और भी बहुत कुछ हैं।

यह आपके आवश्यक बैटरी बैकअप पर निर्भर करता है। 1kW सोलर सिस्टम के लिए 150 AH की 2 बैटरियों की जरूरत होती है। यदि आप अधिक बैटरी बैकअप चाहते हैं तो आपको अधिक बैटरी ठीक करने की आवश्यकता है।

बैटरी बैकअप समय आपकी खपत या कनेक्टेड लोड पर निर्भर करता है। सोलर बैटरी का औसत बैटरी बैकअप 4-8 घंटे के लिए डिज़ाइन किया गया है। यदि आप अपना बेसिक लोड चला रहे हैं तो यह अधिक बैकअप प्रदान करता है और यदि आप अपने भारी लोड को जोड़ रहे हैं तो बैकअप समय कम हो जाएगा।

सोलर में कई प्रेस्टिजियस ब्रांड हैं जैसे लुमिनस सोलर, हैवेल्स सोलर, सुकम सोलर और भी बहुत कुछ। इन मनुफक्चरर्स के सभी सोलर प्रोडक्ट्स अपने तरीके से बेस्ट हैं। आप अपनी पसंद के अनुसार कोई भी सोलर ब्रांड चुन सकते हैं।

हां, पैनल पर 30% सरकारी सब्सिडी विशिष्ट क्षेत्रों में उपलब्ध है। अधिक जानकारी के लिए आपको अपनी राज्य सोलर पॉलिसी की जांच करनी होगी।

ऑफ-ग्रिड सोलर इनवर्टर दो टेक्नोलॉजीज में उपलब्ध हैं।

  • MPPT सोलर इन्वर्टर  
  • PWM सोलर इन्वर्टर

ऑफ ग्रिड सिस्टम में सोलर इनवर्टर कन्वेंशनल इनवर्टर के रूप में वर्क करते हैं। यह सोलर ऍप्लिकेशन्स के लिए सिर्फ एक अपग्रेड है।

 MPPT सोलर इन्वर्टर 96% तक बिजली को प्रोड्यूस कर सकता है जबकि PWM सोलर इनवर्टर कुल बिजली का केवल 70% प्रोड्यूस कर सकता है। तो कम्पेरेटिव रूप से MPPT इन्वर्टर PWM इन्वर्टर से बेहतर है।

सोलर रेगुलेटर को चार्ज कंट्रोलर के रूप में भी जाना जाता है। यह एक छोटा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो मौजूदा या नॉन-सोलर बैटरी में पासिंग होने वाली बिजली के वोल्टेज को कंट्रोल करता है।

भारत में, ऑप्टिमं एंगल 20-30 डिग्री है। लेकिन यह एक राज्य से दूसरे राज्य में सूर्य की स्थिति के अनुसार भिन्न हो सकता है।

हां, आपको एक ही ब्रांड का पूरा सिस्टम खरीदना चाहिए। रीज़न: (1) बिक्री के बाद सेवा के संबंध में आपको कभी भी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा। एक ही कंपनी आपको सोलर पैनल, इन्वर्टर और बैटरी से संबंधित सोलूशन्स प्रोवाइड कराएगी। (2) यदि आप विभिन्न ब्रांडों से सोलर कंपोनेंट्स खरीदते हैं तो आपको अधिक GST देना होगा क्योंकि यह सोलर बैटरी पर 28%, इन्वर्टर पर 18% और सोलर पैनल पर 5% है, लेकिन कम्पलीट सोलर सिस्टम पर यह केवल 5% है।

बेहतरीन क्वालिटी का ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम खरीदने के लिए आपको हमसे संपर्क करना होगा या आप इसे हमारे ऑनलाइन स्टोर से भी प्राप्त कर सकते हैं।

इंडिया के टॉप सोलर ब्रांड्स

हम टाटा सोलरयूटीएल सोलरलुमिनस सोलरपतंजलि सोलर, माइक्रोटेक सोलर, एक्साइड सोलर, वारी सोलरविक्रम सोलर, अदानी सोलर, लुबी सोलर सहित सभी प्रतिष्ठित सोलर ब्रांडों में डील करते हैं।

✍️ Written by Hari Sharan & Updated On: 17/05/2022 By Punit

बेस्ट सेल्लिंग प्रोडक्ट्स

हमारा अमेज़न स्टोर